Best Nafrat Shayari In Hindi | Latest Nafrat Status | Top Nafrat Shayari - Flash Jokes - Latest shayari and funny jokes

Best Nafrat Shayari In Hindi | Latest Nafrat Status | Top Nafrat Shayari

 
Best Nafrat Shayari In Hindi | Latest Nafrat Status | Top Nafrat Shayari
Best Nafrat Shayari In Hindi | Latest Nafrat Status | Top Nafrat Shayari

 *****

---------------------------------------
अदावत तो है 

अपनी नफरतों के रहनुमाओं से।

जो दिल में दे जगह उससे 

भला न क्यूँ सुलह कर लें।।

---------------------------------------

---------------------------------------
मैं काबिले नफरत हूँ, 

तो छोड़ दे मुझको।

तू मुझसे यूँ दिखावे की 

मोहब्बत न किया कर।।

---------------------------------------

---------------------------------------
नफरत मत करना मुझसे,

बुरा लगेगा।

बस एक बार प्यार से कह देना,

अब तेरी जरूरत नहीं।।

---------------------------------------

---------------------------------------
ना मेरा प्यार कम हुआ, 

ना उनकी नफरत।

अपना अपना फर्ज था, 

दोनों अदा कर गये।।

---------------------------------------

---------------------------------------
ये तेरी हल्की सी नफ़रत 

और थोड़ा सा इश्क़।

यह तो बता ये मज़ा-ए-इश्क़ 

है या सजा़-ए-इश्क़।।

---------------------------------------

---------------------------------------
मोहब्बत में मेरे जज़्बात 

से तो खूब खेली तू।

मेरे इश्क़ को नफरत के तराजू 

में तौलकर बेच डाली।।

---------------------------------------

---------------------------------------
मुझे नफ़रत सी हो गयी है

अपनी जिन्दगी से।

और तू ज्यादा खुश ना हो,

क्योंकि तू ही मेरी जिन्दगी है।।

---------------------------------------

---------------------------------------
प्यार करना सिखा है

नफरतो की कोई जगह नही।

बस तु ही तु है इस दिल मे,

दूसरा कोई और नही।।

---------------------------------------

---------------------------------------
जो मुझसे नफरत करते हैं 

शौक से करें।

हर शख्स को मैं अपनी मोहब्बत 

के काबिल नहीं समझती।।

---------------------------------------

---------------------------------------
तुम्हारी नफरत पर भी 

लुटा दी ज़िन्दगी हमने।

सोचो अगर तुम मुहब्बत 

करते तो हम क्या करते।।

---------------------------------------

---------------------------------------
अब हम तो नए नफरत करने 

वाले तलाशा करते हैं।

क्योंकि पुराने वाले तो अब हमसे 

मोहब्बत किया करते हैं।।

---------------------------------------

---------------------------------------
नफरत हो गयी मुझे।

एक मोहब्बत लफ्ज से।।

---------------------------------------

---------------------------------------
नफरत करना तो सीखा 

ही नहीं साहब।

हमने दर्द को भी चाहा है, 

अपना समझकार।।

---------------------------------------

---------------------------------------
ज़्यादा कुछ नहीं बदला 

उसके और मेरे बीच में।

पहले नफरत नहीं थी 

और अब प्यार नहीं है।।

---------------------------------------

---------------------------------------
इश्क़ करे या नफरत 

इजाज़त है उन्हें।

हमे इश्क़ से अपने कोई 

शिकायत नही।।

---------------------------------------

---------------------------------------
कुछ दगाबाज़ी हम भी 

तेरे ऐतबार से करेंगे।

तुझसे नफ़रत भी जालिम 

ज़रा प्यार से करेंगे।।

---------------------------------------

---------------------------------------
मुझसे नफरत करनी है 

तो इरादे मजबूत रखना।

जरा से भी चूके तो महोब्बत हो जायेगी।।

---------------------------------------

---------------------------------------
हक़ से दो तो तुम्हारी 

नफरत भी कबूल हमें।

खैरात में तो हम तुम्हारी 

मोहब्बत भी न लें।।

---------------------------------------

---------------------------------------
देख के हमको वो सर झुकाते हैं,

बुला कर महफ़िल में नजरें चुराते हैं।

नफरत हैं तो कह देते हमसे,

गैरों से मिलकर क्यों दिल जलाते हैं।।

---------------------------------------

---------------------------------------
कुछ लोग तो मुझसे सिर्फ इसलिए 

भी नफरत करते हैं।

क्योंकि..बहुत सारे लोग 

मुझसे प्यार करते हैं।।

---------------------------------------

---------------------------------------
नफरत तेरी बुलंदियों पे थी,

फिर भी तुझे चाहा था।

ए सनम तूने ही आवाज ना लगाई,

हमने तो तुझे हर लम्हे में पुकारा था।।

---------------------------------------

---------------------------------------
नफरत को हम प्यार देते हैं 

प्यार पे खुशियां वार देते हैं।

बहुत सोच समझ कर हमसे 

कोई वादा करना ऐ दोस्त।

हम पर वादे पर जिंदगी गुजार देते हैं।।

---------------------------------------

---------------------------------------
काश कि दिल पर अपना अख्तियार होता।

ना नफरत होती ना प्यार होता।।

---------------------------------------

---------------------------------------
नफरत हमने सीखी नही कभी दिल से।

हम तो बस मौहब्बत ही रखते है हर किसी से।।

---------------------------------------

---------------------------------------
प्यार, एहसान, नफरत, दुश्मनी 

जो चाहो वो मुझसे करलो।

आप की कसम वही दुगुना मिलेगा।

---------------------------------------

---------------------------------------
तेरी जुदाई में और तो कुछ ना हो सका।

बस मोहब्बत से नफरत हो गयी ।।

---------------------------------------

---------------------------------------
देख कर उसको तेरा यूँ पलट जाना।

नफरत बता रही है तूने गज़ब की मोहब्बत थी।।

---------------------------------------

---------------------------------------
तूने ज़िन्दगी को मेरी इस 

क़दर कुछ यूँ मोड़ा हैं।

कि अब मोहब्बत भी नफरत भी, 

दोनों थोड़ा थोड़ा हैं।।

---------------------------------------

---------------------------------------
मत रख इतनी नफ़रतें 

अपने दिल में ए इंसान।

जिस दिल में नफरत होती है 

उस दिल में रब नहीं बसता।।

---------------------------------------

---------------------------------------
उनकी नफरत बता रही है।

हमारी मोहब्बत गज़ब की थी।।

---------------------------------------

---------------------------------------
गुज़रे है आज इश्क के उस मुकाम से।

नफरत सी हो गयी है मोहब्बत के नाम से।।

---------------------------------------

---------------------------------------
सुनो न बेहद गुस्सा करते हो आजकल।

नफरत करने लगे हो या ईश्क ज्यादा हो गया।।

---------------------------------------

---------------------------------------
नफ़रत करना है 

तो इस क़दर करना।

के हम दुनिया से चले जाए पर 

तेरी आँख में आंशु ना आए।।

---------------------------------------

---------------------------------------
एक नफरत ही नहीं दुनिया 

में दर्द का सबब फ़राज़।

मोहब्बत भी सकूँ वालों को 

बड़ी तकलीफ़ देती है।।

---------------------------------------

---------------------------------------
दुनिया को नफरत का यकीन 

नहीं दिलाना पङता।

मगर लोग मोहब्बत का सबूत 

ज़रूर मॉगते हैं।।

---------------------------------------

---------------------------------------
मेरे पास वक्त नही है, 

नफ़रत करने का उन लोगो से,

जो मुझसे नफऱत किया करते है।

क्योंकि मैं व्यस्त हूँ उन लोगो मे

जो मुझसे प्यार किया करते है।।

---------------------------------------

---------------------------------------
पहले इश्क़, फिर दर्द, 

फिर बेहद नफरत।

बड़ी तरकीब से तबाह 

किया तुमने मुझको।।

---------------------------------------

---------------------------------------
हमारी अदा पे तो नफरत 

करने वाले भी फ़िदा हैं।

तो फिर सोच प्यार करने वालो का 

किया हाल होता होगा।।

---------------------------------------

---------------------------------------
नफरत करने की दवा बता दो यारो।

वरना मेरी मौत की वजह मेरा प्यार ही होगा।।

---------------------------------------

---------------------------------------
नफरतें लाख मिलीं पर मोहब्बत न मिली,

ज़िन्दगी बीत गयी मगर राहत न मिली।

तेरी महफ़िल में हर एक को हँसता देखा,

एक मैं था जिसे हँसने की इजाजत न मिली।।

---------------------------------------

---------------------------------------
सनम तेरी नफरत में वो दम नहीं

जो मेरी चाहत को मिटा दे।

ये मोहब्बत है कोई खेल नहीं

जो आज हंस के खेला और 

कल रो कर भुला दे।।

---------------------------------------

... Thank You ...


                                                                                                                          

Post a Comment

0 Comments