Shri Radha Krishna Status in Hindi 2019 - Flash Jokes - Latest shayari and funny jokes

Shri Radha Krishna Status in Hindi 2019

Best Radha Krishna Status in Hindi 2019

Shri Radha Krishna Status in Hindi 2019
Shri Radha Krishna Status in Hindi 2019


-----



राधा के सच्चे प्रेम का यह ईनाम है,
कान्हा से पहले लोग लेते राधा का नाम है।





इस जगत में कन्हैया आपका इन्सान के रूप में होना ही,
हमारे लिए सबसे बड़ी ख़ुशी की बात है !!








आज मोहे दर्शन से कर दो निहाल..
आओ आओ आओ आओ यशोदा के लाल !!





 विष कैसा होता है भोलेनाथ से पूछो,
मीरा से पूछोगे तो अमृत ही कहेगी !!
प्रेम तो प्रेम होता है...जय श्री कृष्ण





राधा सच्चे प्रेम का मिलता यह ईनाम.
कान्हा से पहले लिया जग ने तेरा नाम..
जय हो राधा श्याम !!





 बहुत खुबसूरत है मेरे ख्यालो की दुनिया,
बस कृष्ण से शुरू और कृष्ण पर ही खत्म !!
राधे-कृष्ण





क्या नींद क्या ख्वाब आँखे बंद करू तो तेरा चेहरा,
आँख खोलू तो तेरा ख्याल मेरे कान्हा !!





 कृष्ण का नाम लो सहारा मिलेंगा,
यह जीवन ना तुमको दुबारा मिलेगा !!





 जीवन ना तो भविष्य में है और नाही अतीत में,
जीवन तो केवल कृष्णा के ध्यान में है !!
जय श्री कृष्णा





 प्यार दो आत्माओ का मिलन होता है ठीक वैसे ही जैसे..
प्यार में कृष्ण का नाम राधा और राधा का नाम कृष्ण होता है !!





माखन चुराकर जिसने खाया..
बंसी बजाकर जिसने नचाया..
ख़ुशी मनाओ उसके जन्म की..
जिसने दुनिया को प्रेम सिखाया !!





कान्हा तुझे खवाबो में पा कर दिल खो जाता है,
खुद को जितना भी रोक लू प्यार हो ही जाता है !!





ज़िन्दगी में कभी भी अपने किसी हुनर पर घमंड मत करना..
क्यूंकि पत्थर जब पानी में गिरता हगे तो अपने ही वजन से डूब जाता है !!





 हे कान्हा..
तुम संग बीते वक़्त का मै कोई हिसाब नहीं रखती..
मै बस तुम्हे जीती हूँ, इससे आगे का कोई खवाब नहीं रखती !!





हरे कृष्णा हरे कृष्णा..
कृष्णा कृष्णा हरे हरे..
हरे राम हरे राम..
राम राम हरे हरे..





ऐ जन्नत अपनी औकात में रहना..
हम तेरी जन्नत की मोहताज नहीं,
हम श्री बांकेबिहारी के चरणों में रहते है,
वहां तेरी भी कोई औकात नहीं !!





मैंने पूछा भगवान से..
कैसे करू तेरी पूजा. भगवान बोले..
तू खुद भी मुस्कुरा औरो को भी मुस्कुराने की वजह दे,
बस हो गई मेरी पूजा.. राधे राधे !!





 प्यार सबको आजमाता है..
सोलह हज़ार एक सौ आठ रानियों को मिलने वाला श्याम..
एक राधा को तरस जाता है !!





कृष्ण भक्ति की छाव में दुखो को भुलाओ..
सब मै प्रेम भक्ति से हरि गुण गाओ !!
जय श्री राधे कृष्णा__!!





प्यार दो आत्माओं का मिलन होता है, ठीक वैसे हीं
 जैसे प्यार में कृष्ण का नाम राधा और राधा का नाम कृष्ण होता है।





राधा ने किसी और की तरफ देखा हीं नहीं,
 जब से वो कृष्ण के प्यार में खो गई,
 कान्हा के प्यार में पड़कर, वो खुद प्यार की परिभाषा हो गई।





राधा कहती है दुनियावालों से,
तुम्हारे और मेरे प्यार में बस इतना अंतर है।
 प्यार में पड़कर तुमने अपना सबकुछ खो दिया,
और मैंने खुद को खोकर सबकुछ पा लिया।





राधे-राधे जपो चले आएंगे बिहारी,
आएंगे बिहारी चले आएंगे बिहारी।





अगर तुमने राधा के कृष्ण के प्रति समर्पण को जान लिया,
तो तुमने प्यार को सच्चे अर्थों में जान लिया।





एक तरफ साँवले कृष्ण, दूसरी तरफ राधिका गोरी,
जैसे एक-दूसरे से मिल गए हों चाँद-चकोरी।





प्यार दो आत्माओं का मिलन होता है,
ठीक वैसे हीं जैसे प्यार में कृष्ण का नाम राधा 
और राधा का नाम कृष्ण होता है।





प्यार मे कितनी बाधा देखी,
 फिर भी कृष्ण के साथ राधा देखी।





हर पल, हर दिन कहता है कान्हा का मन,
 तू कर ले पल-पल राधा का सुमिरन।





कर भरोसा राधे नाम का, धोखा कभी न खायेगा;
 हर मौके पर कृष्ण, तेरे घर सबसे पहले आयेगा।
 जय श्री राधेकृष्ण…!!





कोई प्यार करे तो राधा-कृष्ण की तरह करे,
 जो एक बार मिले, तो फिर कभी बिछड़े हीं नहीं।





राधा-राधा जपने से हो जाएगा तेरा उद्धार,
 क्योंकि यही वही वो नाम है जिससे कृष्ण को प्यार।





पीर लिखो तो मीरा जैसी, मिलन लिखो कुछ राधा सा।
दोनों ही है कुछ पूरे से, दोनों में ही वो कुछ आधा सा।
 जय श्री कृष्णा।





किसी की सूरत बदल गई किसी की नियत बदल गई…..!!
 जब से तूने पकड़ा मेरा हाथ, “राधे” मेरी तो किस्मत ही बदल गई …..!!





मटकी तोड़े, माखन खाए फिर भी सबके मन को भाये;
राधा के वो प्यारे मोहन,महिमा उनकी दुनिया गाये…!!!!





अधुरा है मेरा इश्क तेरे नाम के बिना,
 जैसे अधूरी है राधा श्याम के बिना।





पता नहीं मजाक था या प्यार का पैगाम लिखा था,
जब मैनें राधा और उसने श्याम लिखा था।





यदि प्रेम का मतलब सिर्फ पा लेना होता,
तो हर हृदय में राधा-कृष्ण का नाम नही होता।





एक तरफ साँवले कृष्ण, दूसरी तरफ राधिका गोरी
जैसे एक-दूसरे से मिल गए हों चाँद-चकोरी।





 राधा के सच्चे प्रेम का यह ईनाम हैं,
कान्हा से पहले लोग लेते राधा का नाम हैं।





कान्हा को राधा ने प्यार का पैगाम लिखा,
पुरे खत में सिर्फ कान्हा कान्हा नाम लिखा।





प्रेम की भाषा बड़ी आसान होती हैं,
राधा-कृष्ण की प्रेम कहानी ये पैगाम देती हैं।





कृष्ण की प्रेम बाँसुरिया सुन भई वो प्रेम दिवानी,
जब-जब कान्हा मुरली बजाएँ दौड़ी आये राधा रानी।





कितने सुंदर नैन तेरे ओ राधा प्यारी,
इन नैनों में खो गये मेरे बांकेबिहारी।





कान्हा तुझे ख्वाबों में पाकर दिल खो ही जाता हैं
खुदको जितना भी रोक लू, प्यार हो ही जाता हैं।





हे कान्हा, तुम संग बीते वक़्त का मैं कोई हिसाब नहीं रखती
मैं बस लम्हे जीती हूँ, इसके आगे कोई ख्वाब नहीं रखती।





कर्तव्य पथ पर जाते-जाते केशव गये थे रूक,
देख दशा राधा रानी, ब्रम्हा भी गये थे झुक।





अब तो आँखों से भी जलन होती हैं मुझे ए कान्हा,
खूकि हो तो तलाश तेरी और बंद हो तो ख्वाब तेरे।





बहुत खूबसूरत हैं मेरे ख्यालों की दुनिया,
बस कृष्ण से शुरू और कृष्ण पर ही खत्म।





राधा-राधा जपने से हो जाएगा तेरा उद्धार,
क्योंकि यही वही वो नाम हैं जिससे कृष्ण को हैं प्यार।





अगर तुमने राधा के कृष्ण के प्रति समर्पण को जान लिया,
तो तुमने प्यार को सच्चे अर्थों में जान लिया।





जब सुकून ना मिले दिखावे की बस्ती में
तब खो जाना मेरे श्याम की मस्ती में।





हर पल, हर दिन कहता हैं कान्हा का मन
तू कर ले पल-पल राधा का सुमिरन।





पर्दा ना कर पुजारी दिखने दे राधा प्यारी ,
मेरे पास वक्त कम हैं, और बाते हैं ढेर सारी।





जो हैं माखन चोर, जो हैं मुरली वाला,
वही हैं हम सबके दुःख दूर करने वाला।





                                                                                                                          

Post a Comment

0 Comments