HUM YUN HI TO NA MILE HONGE | GOONJ CHAND | POETRY - Flash Jokes - Latest shayari and funny jokes

HUM YUN HI TO NA MILE HONGE | GOONJ CHAND | POETRY

HUM YUN HI TO NA MILE HONGE | GOONJ CHAND | POETRY
HUM YUN HI TO NA MILE HONGE | GOONJ CHAND | POETRY

इस कविता के बारे में :

इस काव्य 'हम यू ही तो ना मिले होंगे' को GTalks के लेबल के तहत 'गूँज चाँद' ने लिखा और प्रस्तुत किया है।

*****

'मेरे बिना तुझे भी अपनी जिन्दगी 

से कुछ गिले होंगे '

'हम यू ही तो ना मिले होंगे '

***

'तूफ़ा आया हैं घर मे मेरे '

'तो कुछ हवा के झोंके तेरे घर 

पर भी पहुचें होंगे '

'बिखर गया है पूरा घर मेरा '

'कुछ पर्दे तो तेरी खडकी के भी उड़े होंगे '

'हम यू ही तो ना मिले होंगे '

***

'इतना आसान नहीं मुझे भुला पाना '

'पूरे ना सही पर कुछ लम्हे तुझे 

भी याद होंगे '

'अश्क तो नहीं निकले होंगे तेरी आँखों 

से ये जानती हूँ मैं '

'पर बातों बातों मे कुछ किस्से 

मेरे भी निकले होंगे '

'हम यू ही तो ना मिले होंगे '

***

'अब सावन से भी ऐतराज़ होगा तुझे शायद '

'पर हम ना ही सही पर चाय पकोडे 

तो तेरे साथ होंगे '

'ओर दोबारा नहीं मिल पाए तो गम कैसा '

'हम ख्वाबों मे तो अक्सर मिले होंगे '

'हम यू ही तो ना मिले होंगे '

***

'यादें ही काफी हैं एक दूसरे मे 

ज़िंदा रहने के लिए '

'जरूरी तो नहीं हर प्यार करने 

वाले साथ रहे होंगे '

'मेरी खामोशी को मेरी बेवफ़ाई 

मत समझना '

'हो सकता है तेरी ही मजबूरी के आगे 

मैंने अपने होठ सिले होंगे '

'हम यू ही तो ना मिले होंगे '

***

'मेरे बिना तुझे भी अपनी जिन्दगी 

से कुछ गिले होंगे '

'हम यू ही तो ना मिले होंगे '

*****

सुनिए इस कविता का ऑडियो वर्शन


( Use UC Browser For Better Audio Experience )

*****


... Thank You ...



( Disclaimer: The Orignal Copyright Of this Content Is Belong to the Respective Writer )
                                                                                                                          

Post a Comment

1 Comments